Facilities- Library

Facilities

Library

  महाविद्यालय के ग्रन्थालय विभाग का प्रारंभ 1982 में महाविद्यालय की स्थापना के साथ ही हुआ। पुस्तकालय एक विकासशील संस्था है जिसके अनुरूप ग्रन्थालय विभाग प्रारम्भ से वर्तमान तक लागातर विकास की ओर अग्रसर है।

वर्तमान में महाविद्यालय ग्रन्थालय में कुल 34040 पुस्तकें दर्ज की गयी है। जिसमें विद्यार्थियों के लिए प्रतिवर्ष शासन के आदेशानुसार विभिन्न योजनाओं के तहत पुस्तकों एवं अन्य पाठ्य सामग्री का क्रय किया जाता है। योजनाओं में प्रमुख बुक बैंक योजना (अनुसूचित जाति, जनजाति) एवं बी.पी.एल. की नियमित छात्राओं के लिए विशेष रूप से प्राप्त मदों के द्वारा उनके आवश्यकता के अनुरूप पुस्तकों का क्रय किया जाता है।


महाविद्यालय में दर्ज पाठ्य सामाग्री का विवरण (कुल दर्ज पुस्तकों की संख्या)
क्र.          सामान्य ग्रन्थालय                                बुक बैंक योजना के तहत                                            कुल दर्ज संख्या
                                             अनुसूचित जाति     अनुसूचित जनजाति        बी.पी.एल.       बेसिक   
1                 20715                      9387                2840                   611          487                34040

इसके अतिरिक्त ज्ञान वर्द्धन एवं छात्राओं के भविष्य को देखते हुए विभिन्न प्रकार के समाचार पत्र एवं पत्रिकाओं का क्रय किया जाता है जिसमें निम्न समाचार पत्र मंगाये जाते है।

समाचार पत्र - (1) दैनिक        (2) साप्ताहिक 

(1)     दैनिक समाचार पत्र

- नवभारत

-    देशबन्धु

-    पत्रिका

-    नयी दुनिया

-    हितवाद

-    हरिभूमि


(2) साप्ताहिक समाचार पत्र  

-    रोजगार नियोजन

-    इम्प्लाईमेण्ट न्यूज


समाचार पत्रिकाओं में प्रमुख:-

(1) प्रतियोगिता दर्पण     (2) क्राॅनिकल     (3) सी.एस.आर.    (4) महेन्द्र करेन्ट  (5) विज्ञानप्रगति        (6) योजना     (7) कुरूक्षेत्र     (8 )उद्यमिता   

(9) निरोगधाम         (10) फ्रंट लाईन     (11) आउटलुक    (12) बैंकिंग फाॅर यू (13) इण्डिया टूडे


इसके अतिरिक्त छात्राओं के लिए पिछले 5 वर्षों में हुई परीक्षा के प्रश्नपत्र भी वाचनालय में उपलब्ध किए जाते है।

महाविद्यालय ग्रन्थालय विभाग द्वारा छात्रहित को देखते हुए सत्र के प्रारंभ में ही उन्मोन्मुखी कक्षाएँ पुस्तकालयाध्यक्ष द्वारा ली जाती है ताकि ग्रन्थालय का अधिकाधिक उपयोग कर शासन द्वारा दी जाने वाली योजनाओं का लाभ उठा सके।

महाविद्यालय में ग्रन्थालय विभाग के लागातार विकास प्रक्रिया में ग्र्रन्थालय विकास समिति बनायी गयी है जिनके द्वारा समय-समय पर दिये गये सुझाव पर कार्य किए जाते है।

महाविद्यालय ग्रन्थालय में फोटोकाॅपी की सुविधा भी दी जाती है जिसमें विद्यार्थी अपना आवश्यकतानुसार पाठ्य सामग्री, पत्र-पत्रिकाओं से छायाप्रति करवा सकते है।

महाविद्यालय ग्रन्थालय में कार्यरत कर्मचारी बुक लिफ्टर श्री खोमान साहू स्वीकृत पद पर एवं श्री रवि कुमार दैनिक वेतनभोगी है। पुस्तकालय में इन दोनों के सहयोग उनकी ईमानदारी व मेहनत से ग्रन्थालय का कार्य सम्पन्न किया जाता है।


उन्मुखीकरण कार्यक्रम

ज्ञान जगत में नवीन सूचनाओं की जानकारी हमें खोज से प्राप्त होती है। विभिन्न क्षेत्रों के बौद्धिक क्रियाकलाप प्रतिदिन सूचनाओं पर निर्भर होती जा रहा है।

पुस्तकालय में विभिन्न प्रकार के साहित्य को संग्रहित कर व्यवस्थापन पुस्तकालयों की विधियों के द्वारा किया जाता है।

पुस्तकालयों में संग्रहित साहित्य का उपयोग किस प्रकार हो जिससे पाठकों को आवश्यकतानुसार कम से कम समय में इच्छित जानकारी प्राप्त हो सके। इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु ग्रन्थालय में संग्रहित साहित्य पुस्तकालयों की संरचना और उसके विभिन्न विभागों की जानकारी पाठकों को देकर पुस्तकालय का उपयोग बढ़ाया जा सकता है। इसी तारतम्य में महाविद्यालय में भी ग्रन्थालय विभाग द्वारा सत्र के प्रारम्भ (जुलाई - अगस्त) माह में विभिन्न संकाय के नवप्रवेशित विद्यार्थियों के लिए उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है जिसके अंतर्गत महाविद्यालय ग्रन्थालय के पुस्तक संग्रह, व्यवस्था ग्रन्थालय उपयोग की प्रक्रिया एवं छात्रहित को देखते हुए शासन द्वारा चलाए गए विभिन्न योजनाएँ जो ग्रन्थालय विभाग से संबंधित है। जिसमें प्रमुख बुक बैंक योजना (अनुसूचित जाति, जनजाति, बी.पी.एल. संबंधित) की जानकारी विद्यार्थियों को दी जाती है।





Library Photos